बाल विकास

बाल विकास और इसके सिद्धांत (Child Development & Theories)

Daily REET 2020

इस लेख में, हम इंटेलिजेंस और उसके प्रमेय में संक्षिप्त नोट्स के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं। यह विषय REET & CTET परीक्षा के बाल विकास और शिक्षाशास्त्र विषय के लिए प्रासंगिक है। परीक्षा की तैयारी करते समय, एक छात्र को इस विषय पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है और बुद्धि के सिद्धांतों के बारे में स्पष्ट ज्ञान होना चाहिए।

बुद्धिमत्ता और इसके सिद्धांत(बाल विकास):

बुद्धिमत्ता को किसी के ज्ञान के बारे में जानने, समझने, समझने और उससे बातचीत करने की क्षमता कहा जाता है। इसमें विभिन्न विशिष्ट क्षमताएं शामिल हैं जैसे:

  • एक नए वातावरण के लिए अनुकूलता।
  • कारण और अमूर्त विचार के लिए क्षमता।
  • रिश्तों को समझने की क्षमता।
  • मूल और उत्पादक विचार के लिए क्षमता।
  • मूल्यांकन और न्याय करने की क्षमता।

बुद्धि के प्रमुख सिद्धांत हैं:-

1. चार्ल्स स्पीयरमैन-जनरल इंटेलिजेंस (g factor): उन्होंने निष्कर्ष निकाला कि बुद्धिमत्ता सामान्य संज्ञानात्मक क्षमता है जिसे मापा और संख्यात्मक रूप से व्यक्त किया जा सकता है।

2. लुइस एल। थर्स्टनप्राथमिक मानसिक क्षमताओं (7): उन्होंने सात विभिन्न क्षमताओं पर ध्यान केंद्रित किया-

  • शाब्दिक समझबूझ
  • विचार
  • शब्द प्रवाह
  • संख्यात्मक क्षमता
  • सहयोगी मेमोरी
  • स्थानिक दृश्य

3. हॉवर्ड गार्डेनर-मल्टीपल इंटेलिजेंस (8): उन्होंने अपनी पुस्तक ‘Frames of Mind’ में आठ सिद्धांतों का प्रस्ताव किया; इस सिद्धांत में, उन्होंने बुद्धि के विकास में जैविक और सांस्कृतिक दोनों पहलुओं पर जोर दिया।

* कक्षाओं में एकाधिक अंतर्द्वंद्वों का उपयोग करना: इस सिद्धांत में कहा गया है कि सभी को समाज में उत्पादकता के अनुकूल बनाने की आवश्यकता है और शिक्षकों को ऐसी शैली में सामग्री की प्रस्तुति की संरचना करनी चाहिए जो अधिकांश या सभी बुद्धिमत्ता को संलग्न कर सके। उदाहरण के लिए। शिक्षक यह बता सकता है कि इस घटना का वर्णन करते हुए एक जासूसी रूप से बुद्धिमान बालक क्रांतिकारी युद्ध के बारे में जान सकता है।

* अधिक प्रामाणिक मूल्यांकन की ओर: शिक्षकों को अपने छात्रों को उन तरीकों से सीखने का मूल्यांकन करना चाहिए जो उनकी ताकत और कमजोरियों का सही और सटीक अवलोकन करेंगे। इसलिए, एक शिक्षक के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वह प्रत्येक छात्र के लिए ‘बुद्धिमत्ता प्रोफाइल’ बनाए, जो शिक्षक को बच्चे की प्रगति का सही आकलन करने की अनुमति देगा।

अब एप्लिकेशन डाउनलोड करें और परीक्षा की बेहतर तैयारी करें. For more Updates Visit Coachingwale.Com

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments